Search News Posts

  • General Inquiries :- +91-9799213697

  • Support :- +91-9509559668

Home

न्याय

News filed in:

"न्याय"

न्यायसूत्र 

​न्यायसूत्र भारतीय दर्शन का प्राचीन ग्रन्थ है। इसके रचयिताअक्षपाद गौतम हैं। यह न्यायदर्शन का सबसे प्राचीन रचना है। न्यायसूत्र के रचनाकाल के विषय में विद्वानों में पर्याप्त मतभेद है। महामहोपाध्याय हर प्रसाद शास्त्री इसका काल खृष्टीय द्वितीय शतक मानते हैं। सूत्रों में शून्यवाद का खण्डन पाकर डा. याकोबी महाशय न्यायसूत्रों का रचनाकाल खृष्टीय तृतीय शताब्दी मानते हैं। महामहोपाध्याय सतीशचन्द्र विद्याभूषण ने अपने […]

Read More →

​न्यायसूत्र भारतीय दर्शन का प्राचीन ग्रन्थ है। इसके रचयिताअक्षपाद गौतम हैं। यह न्यायदर्शन का सबसे प्राचीन रचना है। न्यायसूत्र के रचनाकाल के विषय में विद्वानों में पर्याप्त मतभेद है। महामहोपाध्याय हर प्रसाद शास्त्री इसका काल खृष्टीय द्वितीय शतक मानते हैं। सूत्रों में शून्यवाद का खण्डन पाकर डा. याकोबी महाशय न्यायसूत्रों का रचनाकाल खृष्टीय तृतीय शताब्दी मानते हैं। महामहोपाध्याय सतीशचन्द्र विद्याभूषण ने अपने […]

Read More

error: Content is protected !!